इतिहास History

प्राचीन भारत का इतिहास

मानव विकास का क्रम

प्रागैतिहासिक काल

पुरापाषाण काल

मध्य पाषाण काल

नव पाषाण काल

ताम्र पाषाणिक संस्कृतियाँ

प्रमुख मृदभाण्ड संस्कृतियाँ

■ हड़प्पा (सिंधु) सभ्यता.5-10विविध.11-17• सामान्य तथ्यात्मक विवरण प्रस्तर मूर्तियाँ, मृण्मूर्तियां, मोहरें एवं लिपि आर्थिक एवं धार्मिक जीवन शवाधान विधियाँ सिन्धु सभ्यता से प्राप्त महत्वपूर्ण साक्ष्य • हड़प्पा सभ्यता के प्रमुख स्थल (प्रांत, खोजकर्ता एवं वर्ष) • विविध■ वैदिक सभ्यता..18-28• पूर्व वैदिक सभ्यता- (ऋग्वेद, राजनीतिक, सामाजिक, धार्मिक एवं आर्थिक जीवन और विविध ) • उत्तर वैदिक सभ्यता- (राजनीतिक, सामाजिक, धार्मिक एवं आर्थिक जीवन, यजुर्वेद, सामवेद एवं अथर्ववेद में वर्णित तथ्य) • ब्राह्मण ग्रंथ – (ब्राह्मण, उपनिषद) • विविध ■ सूत्र काल एवं महाकाव्य काल……• आश्रम व्यवस्था, संस्कार एवं विवाह पद्धति● महाजनपद काल.• राजनीतिक जीवन-प्रमुख राज्य एवं वंश विविध विदेशी आक्रमण (यूनानी एवं पारसी) ■ छठवीं शताब्दी ईसा पूर्व में सामाजिक एवं धार्मिक आंदोलन..29-31.31-36.37-55• बौद्ध धर्म एवं महात्मा बुद्ध से संबंधित तथ्य ( जीवन परिचय, शिक्षा, दर्शन, सम्प्रदाय, स्थापत्य, प्रमुख संगीतियाँ, साहित्य एवं विविध) • जैन धर्म एवं महावीर स्वामी (सामान्य परिचय, जीवनवृत्त प्रमुख तीर्थंकर, प्रमुख सिद्धांत, दर्शन, सम्प्रदाय, साहित्य, संगीतियाँ एवं विविध) • शैव, भागवत एवं शाक्त धर्म (शैव धर्म- नयनार, पाशुपत, कापालिक, कालमुख, लिंगायत एवं वीरशैव सम्प्रदाय • भागवत धर्म – अलवार, दशावतार एवं चतुर्व्यूह शाक्त धर्म प्रमुख तथ्य सौर सम्प्रदाय (सूर्य पूजा) षड्दर्शन■ प्राग्मौर्य युगीन समाज एवं संस्कृति..■ मौर्य साम्राज्य ( 322 184 ई. पू. तक ) ……..56.57-71• राजनीतिक जीवन- चन्द्रगुप्त मौर्य (उत्पत्ति, उपलब्धियाँ, साम्राज्य विस्तार, कौटिल्य का अर्थशास्त्र एवं मेगस्थनीज की इंडिका) • बिन्दुसार – विवरण • अशोक ‘प्रियदशी’ – (सामाज्य विस्तार, अशोक का धम्म, प्रमुख अभिलेख एवं वर्णित तथ्य, स्तूप, गुहालेख ) मौर्यकालीन प्रशासन- (अर्थशास्त्र में वर्णित तीर्थ एवं अध्यक्ष, अशोक द्वारा नियुक्त प्रमुख पदाधिकारी, सैन्य व्यवस्था, न्याय व्यवस्था, गुप्तचर व्यवस्था, नगर एवं ग्राम प्रशासन • मौर्य कालीन आर्थिक स्थिति – (कृषि, उद्योग एवं व्यापार, मुद्रा व्यवस्था ) मौर्यकालीन सामाजिक दशा – (स्त्री दशा) परवर्ती मौर्य सम्राट (236-184 ई. पू.) विविध तथ्य■ मौर्योत्तर काल (184 ई. पू. 300 ई.)..72-77• शुंग एवं कण्व राजवंश – ( राजनीतिक, सामाजिक, आर्थिक एवं धार्मिक जीवन और स्थापत्य कला एवं विविध) आन्ध्र सातवाहन राजवंश- प्रमुख शासक शातकर्णि प्रथम, हाल, गौतमी पुत्र सातकर्णि, वासिष्ठपुत्र पुलुमावी एवं यज्ञ श्री शातकर्णि सातवाहन साम्राज्य का विघटन एवं कलिंग का चेदि वंश • सातवाहन युगीन संस्कृति- शासन व्यवस्था, सामाजिक, धार्मिक एवं आर्थिक दशा, कला एवं संस्कृति■ वाह्य आक्रमण द्वारा स्थापित राजवंश..78-85 केशक एवं पहलव वंश – उत्पत्ति एवं प्रसार, तक्षशिला एवं मथुरा कुषाण राजवंश – उत्पत्ति एवं प्रसार, प्रमुख शासक, परवर्ती कुषाण शासक, और• हिन्द यवन (इण्डो-ग्रीक ) आक्रमण – डेमेट्रियस वंश, यूक्रेटाइडीज वंश) शक क्षत्रप, पश्चिमी भारत के क्षहरात, कार्दमक ( चष्टन वंश) वंश कुषाण कालीन समाज एवं संस्कृति, स्थापत्य कला (गांधार एवं मुथरा )■ गुप्तों के उदय से पूर्व भारत की राजनैतिक दशा……….मुद्रा• नागवंश, मौखरि वंश, मघराज वंश, पल्लव वंश एवं प्रमुख गणतंत्र वाकाटक राजवंश■ गुप्त एवं गुप्तोत्तर काल..86-87.88-109● गुप्त राजवंश का प्रारम्भिक इतिहास, प्रमुख स्रोत, प्रमुख शासक- चन्द्रगुप्त प्रथम, समुद्रगुप्त एवं प्रमुख विजयें, रामगुप्त, चन्द्रगुप्त द्वितीय ‘विक्रमादित्य’, कुमार गुप्त, स्कन्दगुप्त एव परवर्ती शासक गुप्तकालीन संस्कृति – प्रशासन ( केन्द्र, राज्य एवं ग्राम), प्रमुख पदाधिकारी, न्याय एव सैन्य व्यवस्था • आर्थिक जीवन – भूमि एवं राजस्व, विभिन्न कर, भूमि के प्रकार, भूमि अनुदान, कृषि एवं उद्योग, व्यापार एवं वाणिज्य तथा मुद्रा व्यवस्था • गुप्तकालीन सामाजिक एवं धार्मिक जीवन, साहित्य एवं विज्ञान, कला – स्थापत्य, विविध गुप्तोत्तर काल (राजवंश)- मगध एवं मालवा के उत्तर गुप्त वंश, कन्नौज का मौखरि राजवंश, वल्लभी का मैत्रक वंश और हूण शक्ति का उत्थान एवं पतन ■ पुष्यभूति या वर्द्धन वंश……• जानकारी के प्रमुख स्रोत, प्रमुख शासक (हर्षवर्द्धन ) हर्ष कालीन संस्कृति, प्रशासन एवं प्रमुख पदाधिकारी■ दक्षिण भारत का इतिहास.110-115116-128राष्ट्रकूट वंश- प्रमुख शासक चोल• संगम वंश – प्रमुख तथ्य, प्रमुख राजवंश- चोल, चेर एवं पाण्ड्य वंश पल्लव वंश – प्रमुख शासक राजवंश- प्रमुख शासक, चोलयुगीन प्रशासन एवं संस्कृति, साहित्य एवं प्रमुख शब्दावली • वातापी / बादामी के चालुक्य वंश- कल्याणी के चालुक्य, वेंगी के चालुक्य • दक्षिण भारत के अन्य राजवंश – देवगिरि के यादव वंश, वारगंल के काकतीय वंश, द्वारसमुद्र के होयसल वंश, कदम्ब राजवंश एवं गंग राजवंश2

Leave a Comment