प्रागैतिहासिक काल

  • चित्रित शैलाश्रयों की सबसे बड़ी मेखला कौन-सी है- जौरा, भीमबेटका
  • भारत में पूर्व प्रस्तर युग अधिकांश औजार किससे बने थे—स्फटिक से
  • किस प्रागैतिहासिक स्थल से भारत की प्राचीनतम झोपड़ी के साक्ष्य प्राप्त हुए है-पैसरा (बिहार) से
  • उच्च पूर्व पाषाणयुगीन स्थल जहाँ से शुतुरमुर्ग के अंडों पर चित्रांकन का साक्ष्य मिला है- पाटणे से
  • उत्कीर्ण शैलचित्रों को क्या कहा जाता है– पेट्रोग्लिफ
  • मध्य पुरापाषाणिक स्थल समनापुर का उत्खनन का कार्य किसनेकिया था-वी० एन० मिश्रा ने
  • चित्रित शैलाश्रयों की सबसे बड़ी मेखला कौन-सी है – जौरा, भीमबेटका
  • उच्च पुरापाषाण काल को किस एक अन्य नाम से जाना जाता है – मेग्देलियन संस्कृति एवं ब्लेड संस्कृति-
  • तोबा ज्वालामुखी राख सर्वप्रथम कहाँ से प्राप्त हुआ है-सोन घाटी क्षेत्र से
  • मध्य सोन नदी घाटी का प्राचीनतम भू-तात्विक जमाव का क्रम है-सिंहावल, पटपरा, बाघोर एवं खैतौन्ही
  • प्रागैतिहास के अध्ययन का विषय क्या है-निरक्षर समाजों का इतिहास
  • हस्तकुठार उपकरण किस विधि के उपकरण थे-बाईफेसियल
  • पूर्व पाषाण कालीन लोगों का मुख्य धंधा क्या था-शिकार करना
  • किस क्षेत्र में पुरापाषाण काल, मध्यपाषाण काल और नवपाषाणकाल के अवशेष एक क्रम में पाए गए हैं—बेलन घाटी, विन्ध्य क्षेत्र एवं नर्मदा घाटी से
  • ग्राउंड स्टोन टूल्स किसका द्योतक हैं-
  • कृषि अर्थव्यवस्था से पाषाण उपकरण निर्माण केन्द्र इसामपुर किस राज्य में स्थित है-कर्नाटक में
  • 2001 में भारत के किस स्थान से एक पूरा अश्मीकृत मानवशिशु-कपाल प्राप्त हुआ-
  • ओदे (केरल) सेभारत में ‘प्रागैतिहासिक पुरातत्व’ का जनक किसे माना जाता है- ए० कनिंघम को
  • पाषाणकालीन संस्कृतियों का कालानुक्रम
  • 1. एबीबेली – अनगढ़ भारीभरकम हस्तकुठार
  • 2. ऐशूली – काफी छोटा सुडौल हस्तकुठार (रिस युग )
  • 3. मोस्तारी – मध्य पुरापाषाण कालीन ( पश्चिमी यूरोप)
  • 4. मग्दालीनी – उच्च – पूर्व
  • पाषाणकाल प्रागैतिहासिक संस्कृतियों का क्रम
  • 1. पैल्योलिथिक – पूर्व पाषाणकाल
  • 2. मेसोलिथिक – मध्य पाषाणकाल
  • 3. नियोलिथिक – नवपाषाण काल
  • 4. कैल्कोलिथिक— ताम्र पाषाणकाल

Leave a Comment