As dhatu ke Roop अस् धातु के रूप

अस् धातु के रूप

अस् धातु एक क्रिया है जिसे हम verb भी कहते है । अस् धातु का प्रयोग है, हैं, था, थे, होगा, होंगे इत्यादि के स्थान पर होता है |

आज हम अस् धातु के धातु रूपों का पाँचों लकारों में अध्ययन करेंगे |


As dhatu ke Roop लट् लकार (वर्तमानकाल)

पुरुष एकवचनद्विवचनबहुवचन
प्रथमअस्तिस्त:सन्ति
मध्यमअसिस्थ:स्थ
उत्तमअस्मिस्व:स्म:
  1. वह छात्र है ।
    सः छात्रः अस्ति |
  2. मैं अध्यापक हूँ ।
    अहम् अध्यापकः अस्मि |
  3. तुम सब होशियार हो |
    यूयं बुद्धिमन्त: स्थ |

लङ् लकार (भूतकाल )

पुरुषएकवचनद्विवचनबहुवचन
प्रथमआसीत्आस्ताम्आसन्
मध्यमआसी:आस्तम्आस्त
उत्तमआसम्आस्वआस्म

लृट् लकार (भविष्यत् काल)

पुरुषएकवचनद्विवचनबहुवचन
प्रथमभविष्यतिभविष्यत;भविष्यन्ति
मध्यम भविष्यसिभविष्यथ:भविष्यथ
उत्तमभविष्यामिभविष्याव:भविष्याम

लोट् लकार (आज्ञार्थ काल)

पुरुषएकवचनद्विवचनबहुवचन
प्रथमकास्तुस्ताम्सन्तु
मध्यमएधिस्तम्स्त
उत्तमअसानिअसावअसाम

विधिलिङ् लकार (चाहिए अर्थ में)

पुरुष एकवचनद्विवचनबहुवचन
प्रथम स्यात्स्याताम्स्यु:
मध्यम स्या:स्यातम्स्यात
उत्तमस्याम्स्यावस्याम

Leave a Comment