पाठ 20 संस्कृत व्याकरण Grammar

शब्द रुप

विभक्तियों का प्रयोग-संस्कृत में अनुवाद करते समय हिंदी के कारक चिन्ह के आधार पर विभक्तियों का प्रयोग होता है यह कारक चिन्ह है और विभक्तियां निम्नलिखित हैं।

विभक्तिःकारक चिन्ह
प्रथमाकर्ताने
द्वितीया कर्मको
तृतीयाकरणसे (सहायतार्थ) के द्वारा
चतुर्थीसम्प्रदानके लिए
पञ्चमी अपादानसे (अलग होने में )
षष्ठी सम्बन्धका, के, की, रा, री, रे, ना, नी, ने
सप्तमीअधिकरण में पर
सम्बोधनसम्बोधनहे, ओ, अरे भो

अकारांन्त पुल्लिंग शब्द

बालक child

कारकविभक्ति एकवचनद्विवचनबहुवचन
कर्ताप्रथमाबालकःबालकौबालकाः
कर्म द्वितीया
बालकम्

बालकौ

बालकान्
करणतृतीयाबालकेन
बालकाभ्याम्
बालकैः
सम्प्रदानचतुर्थीबालकाय
बालकाभ्याम्
बालकेभ्यः
अपादानपञ्चमीबालकात्
बालकाभ्याम्
बालकेभ्यः
सम्बन्धषष्ठीबालकस्य
बालकयोः
बालकानाम्
अधिकरणसप्तमीबालके हे बालकयोः बालकेषु
सम्बोधनसम्बोधनबालक !हे बालकौ !हे बालकाः!

अकारान्त स्त्रीलिंग -रमा लक्ष्मी शब्द

विभक्तिःएकवचनद्विवचनबहुवचन
प्रथमारमारमेरमा:
द्वितीया रमाम्रमेरमा:
तृतीयारमयारमाभ्याम्रमाभि:
चतुर्थी रमायैरमाभ्याम्रमाभ्य:
पञ्चमीरमाया:रमाभ्याम्रमाभ्य:
षष्ठीरमाया:रमयो:रमाणाम्
सप्तमीरमायाम्रमयो:रमासु
सम्बोधनहे रमा !हे राम !हे रमा: !

अकारान्त नपुंसकलिंग-फल शब्द

विभक्तिएकवचनद्विवचनबहुवचन
प्रथमाफलम्फलेफलानि
द्वितीया फलम्फलेफलानि
तृतीया फलेनफलाभ्याम्फलै:
चतुर्थीफलायफलाभ्याम्फलेभ्यः
पञ्चमी फलात्फलाभ्याम्फलेभ्यः
षष्ठीफलस्यफलयो:फलानाम्
सप्तमीफलेफलयो:फलेषु
सम्बोधन हे फलहे फले !हे फलानि !
IMG 20240225 122605 पाठ 20 संस्कृत व्याकरण Grammar
IMG 20240225 122852 पाठ 20 संस्कृत व्याकरण Grammar

Leave a Comment