कहां रहेगी चिड़िया पाठ-5 kahan rahegi chidiya chapter-5

फुलवारी कक्षा-4 की हिंदी पाठ्य पुस्तक

यह अध्याय प्राइमरी पाठशाला कक्षा 4 की हिंदी पाठ पुस्तक फुलवारी से लिया गया है इस पाठ में हम पढ़ेंगे कहां रहेगी चिड़िया-कविता |

आँधी आई जोर-शोर से, डालें टूटी हैं झकोर से।
उड़ा घोंसला, अंडे फूटे,
किससे दुःख की बात कहेगी!
अब यह चिड़िया कहाँ रहेगी ?

पंक्ति का भावार्थ-कविता के इन पंक्तियों में कवयित्री ने बताया है | कि आँधी आने के कारण पेड़ की डालियां टूटने लगी और चिड़िया का घोसला उड़ गया तथा चिड़िया के अंडे भी टूट फूट गए | कवयित्री ने चिड़ियों का दुःख प्रकट करते हुए कहती है| कि अब यह चिड़िया किससे अपना दुःख बतायेगी और कहाँ रहेगी |


हमने खोला आलमारी को,
बुला रहे हैं बेचारी को ।
पर वो चीं-चीं कर्राती है,
घर में तो वो नहीं रहेगी!
अब यह चिड़िया कहाँ रहेगी ?

पंक्ति का भावार्थ -कवयित्री ने चिड़ियों की व्यथा को समझते हुए उसकी मदद करना चाहती हैं| इसलिए वे चिड़ियों को रहने के लिए अपने घर की आलमारी को खोलकर बुला रही हैं |चिड़िया घर में नहीं रहना चाहती इसलिए वह चीं-चीं करते हुए इधर-उधर भाग रही है |


घर में पेड़ कहाँ से लाएँ,
कैसे यह घोंसला बनाएँ।
कैसे फूटे अंडे जोड़ें,
किससे यह सब बात कहेगी!
अब यह चिड़िया कहाँ रहेगी ?.

पंक्ति का भावार्थ – पंक्तियों में कवयित्री अपनी विवशता का वर्णन करते हुए कहती हैं- कि अब हम घर में पेड़ को कहाँ से लायें जिसमें चिड़िया अपना घोसला बना सके | और भला उसके फूटे अंडे कैसे सकती हूँ? चिड़िया अपना ये सारा दुःख किससे कहेगी न जाने चिड़िया कहाँ रहेगी |


महादेवी वर्मा

महादेवी वर्मा का जीवन परिचय-

महादेवी वर्मा को ‘आधुनिक युग की मीरा’ कहा जाता है। इनका जन्म सन् 1907 ई. को फर्रुखाबाद, उ०प्र० में हुआ था। इन्होंने साहित्य की विविध विधाओं पर लेखनी चलाते हुए हिंदी साहित्य को समृद्ध किया। ‘नीहार’, ‘रश्मि’, ‘नीरजा’, ‘सांध्यगीत’, ‘दीपशिखा’, ‘पथ के साथी’, ‘श्रृंखला की कड़ियाँ’ इनकी प्रमुख कृतियाँ हैं। इनका निधन सन् 1987 ई. में हुआ ।

अभ्यास

1-

1. बोध प्रश्न : उत्तर लिखिए

(क) जोर-शोर से आँधी आने पर क्या-क्या हुआ ?

उत्तर-जोर-जोर से आँधी आने पर पेड़ की डालियां टूट गई और चिड़िया का घोंसला उड़ गया और अंडे भी टूट गए|


(ख) चिड़िया बुलाने पर आलमारी में रहने के लिए क्यों नहीं आ रही ?

उत्तर-चिड़िया को बुलाने पर अलमारी में इसलिए नहीं आ रही थी कि वह अलमारी में रहना नहीं चाहती थी|


(ग) चिड़िया के लिए दुःख की बात क्या है ?

उत्तर-चिड़िया के लिए यह दुख की बात है कि आधी आने से उसकी घोसला उड़ गए और अंडे भी टूट गए अब वह कहां रहेगी|

2-कविता के अंशु को वाक्य के रूप में लिखिए-

कविता के अंशवाक्य
आई आँधी जोर-जोर सेजोर-जोर से आंधी आई
डाले टूटी है झकोर सेतेज हवाओं से पेड़ की डालियां टूट गई
हमने खोला आलमारी कोहमने खोला आलमारी को
बुला रहे हैं बेचारी कोबुला रहे हैं उसे बेचारी चिड़िया को

1- महादेवी वर्मा की ही एक और कविता नीचे दी गई है-

मेह बरसने वाला है,
मेरी खिड़की में आ जा तितली ।
बाहर जब पर होंगे गीले, धुल जाएंगे रंग सजीले ।
झड़ जाएगा फूल, न तुझको,
बचा सकेगा छोटी तितली ।खिड़की में तू आ जा तितली ।

(क) इस कविता पर दो सवाल बनाइए ।

1-कवयित्री खिड़की के अंदर किसको बुला रही है?

2- बारिश होने पर तितली के ऊपर क्या प्रभाव पड़ेगा?

(ख) इस कविता को संवादों की तरह लिखिए।

कवयित्री कहती हैं– हे तितली ! तुम खिड़की में आ जाओ | बादल बरसने वाले है | जिससे तुम्हारे पर भीग हो जायेंगे और रंग भी धुल जाएगा | तुम्हे फूल भी नहीं बचा पायेंगे |

(ग) इस कविता पर चित्र बनाइए ।

विद्यार्थी स्वयं बनाने का प्रयास करें?

5-सोच विचार बताइए-

(क) आप किसी पेड़ के नीचे हों और जोर की आँधी आ जाए तो क्या करेंगे ?

उत्तर – यदि अगर हम पेड़ के नीचे हैं तो आधी आने पर तुरंत दूर हट जाएंगे


(ख) जिसका घोंसला उड़ गया हो, आप उस चिड़िया की मदद के लिए क्या-क्या करेंगे ?

उत्तर-जिस चिड़िया का घोंसला उड़ गया हो हम उसके लिए घास फूस से घोसला बनाकर पेड़ की डालियां पर रख देंगे|


(ग) आँधी आने पर चिड़िया के अलावा और कौन-कौन से जीव-जंतु दुःखी हुए होंगे?

उत्तर-आदि आ जाने पर चिड़िया के अलावा और भी जीव जंतु डरने लगते हैं कि कहीं पेड़ की डाली हमारे ऊपर ही गिर ना जाए


(घ) चिड़िया के घोंसला उड़ जाने और अंडे फूटने से दुखी है उसका दुःख यह भी है कि वह अपना दुख किससे कहे क्या आपको कोई ऐसी घटना याद है जब आप दुखी हुए हो

  • उस घटना के बारे में बताइए

उत्तर– एक बार की बात है मेरे गाँव में बाढ़ आ गयी थी| जिसके कारण घर के अन्दर भी पानी भर गया था | उस समय हम लोग मचान बना कर सोते थे |

  • अपने दुःख की बात किस कही थी?

उत्तर-मैं अपने दुख की बात दोस्तों से बताई?

6-भाषा के रंग –


दिए गए निर्देश के अनुसार चिड़िया शब्द का प्रयोग करते हुए वाक्य बनाएँ –


(क) ऐसा वाक्य जिसमें पाँच शब्द ही आएँ ।

चिड़िया ने बहुत दुखी थी|


(ख) ऐसा वाक्य जिसमें चिड़िया के रंग का भी उल्लेख हो।

वह चिड़िया लाल रंग की है|


(ग) ऐसा वाक्य जिसमें चिड़िया शब्द के साथ ‘अगर’ भी आए।

अगर चिड़िया का पंख आँधी में टूट जाता तो क्या होता|

प्रश्न संख्या 6 ,7, 8,विद्यार्थी स्वयं करें?

Leave a Comment