मानव विकास का क्रम

मानव विकास का क्रम

  1. रामापिथेकस
  2. आस्ट्रेलोपिथेकस
  3. होमो इरेक्टस
  4. नियण्डरथल
  5. होमोसेपियन
  • मानव विकास के क्रम में मानव का आदि पूर्वज बना और पूर्वअत्यन्त नूतन काल में प्रकट हुआ था – आस्ट्रेलोपिथेकस
  • किस आदि मानव ने सबसे पहले शव विसर्जन तथा अग्नि का व्यापक रूप से उपयोग किया था – नियण्डरथल ने
  • आधुनिक मानव का विकास लगभग 30 हजार वर्ष पहले हुआ जिसे कहते थे – होमोसेपियन

होमोसेपियन को आदि नामों से जानते हैं।

  • प्रज्ञ मानव
  • क्रो-मैग्नान
  • चांस लेडग्रीमाल्ड
  • पुरापाषाण युग से प्राप्त उपकरण किस प्रकार के थे—क्रोड उपकरण हस्तकुठार (हैंड-एक्स) विदारणी ( क्लीवर) खंडक गड़ासा
  • पुरापाषाण युग के उपकरण किन-किन क्षेत्रों से पाए गए हैं – बेलन घाटी (मिर्जापुर उ०प्र०) सोहन घाटी, नर्मदा घाटी और भीमबेटका की चित्रित शैलाश्रयों से
  • मध्य-पुरापाषाण काल को एक अन्य नाम से जाना जाता है – फलक संस्कृति से
  • मध्य पुरापाषाण युग के प्रमुख उपकरण थे – वेधनी छेदनी, खुरचनी
  • मध्य-पुरापाषाण युग के उपकरण बने थे- शल्कों के बने विविध प्रकार के फलक से
  • उच्च-पुरापाषाण युग के प्रमुख उपकरण है—तक्षिणी, खुरचनी (ब्लेड्स, ब्यूरिन्स)
  • चापर-चापिंग पेबुल संस्कृति के उपकरण कहाँ से प्राप्त हुए-हैं – सोहन घाटी क्षेत्र से
  • भारत में पुरा पाषाणिक उपकरण सर्वप्रथम कहाँ से मिले थे – पल्लवरम (मद्रास, तमिलनाडु)
  • परिष्कृत औजारों का किस युग को माना जाता है- उच्च पुरापाषाण युग को
  • उच्च पुरापाषाण युगीन हड्डी की बनी मातृदेवी की मूर्ति कहाँ से प्राप्त हुई है – बेलन घाटी (इलाहाबाद, उ०प्र०)
  • ‘सिहावल’ एवं संघोवा पुरास्थल – हैं – निम्न पूर्व पाषाण संस्कृति का
  • निम्न पुरापाषाण कालीन स्थल हथनौरा ( नर्मदा घाटी) की खोज 5 दिसम्बर, 1982 में किसने किया था-डॉ० अरुण सोनकिया ने

Leave a Comment