Nij Vachak Sarvanam : निजवाचक सर्वनाम हिन्दी व्याकरण

निजवाचक सर्वनाम

वह सार्वनामिक शब्द जो स्वयं के लिए प्रयोग करते हैं जैसे आप अपना आदि जिससे स्वयं का बोध हो वह निजवाचक
कहलाते हैं।
अथवा
जो सर्वनाम तीनों पुरुषों (उत्तम, मध्यम और अन्य) में निजत्व का बोध कराता है, उसे निजवाचक सर्वनाम कहते हैं। जैसे- मैं खुद लिख लूँगा। तुम अपने आप चले जाना। वह स्वयं गाडी चला सकती है। उपर्युक्त वाक्यों में खुद अपने आप और स्वयं शब्द निजवाचक सर्वनाम हैं।

निजवाचक सर्वनाम के उदाहरण

  • मैं अपना कार्य स्वयं करता हूं।
  • मेरी माता भोजन अपने आप बनाती है।
  • मैं अपनी गाड़ी से जाऊंगा।
  • मैं अपने पिताजी के साथ जाऊंगा।

अपना’, ‘अपनी’, ‘ आप ‘जिस सार्वनामिक शब्दों से अपने या अपने तो का बोध हो उसे निजवाचक कहते हैं।


सर्वनाम के भेदः प्रयोग की दृष्टि से सर्वनाम के 6 प्रकार हैं। अर्थात सर्वनाम के 6 भेद होते हैं। जो इस प्रकार हैं-

  1. पुरुषवाचक सर्वनाम
  2. निश्चयवाचक सर्वनाम
  3. अनिश्चयवाचक सर्वनाम
  4. संबंधवाचक सर्वनाम
  5. प्रश्नवाचक सर्वनाम
  6. निजवाचक सर्वनाम

https://governments-exam.com/vatsalya-ras/

Leave a Comment