Path dhatu ke roop 1पठ् धातु-पांचों लकारों में

पठ् धातु-पांचों लकारों में

पठ् धातु- साथियों आज हम पठ् धातु के
रूप व इससे सम्बंधित प्रश्नों के विषय में पढ़ेंगे । पठ् धातु के रूप संस्कृत में सभी पांचों लकारों , पुरुष व तीनों वचनों में लिखे है | पठ् धातु एक भ्वादिगणीय धातु है । इसलिए सभी भ्वादि-गणीय धातुओं के रूप पठ् धातु- पांचों लकारों में इसी प्रकार बनते है ।


अधिकांशतया विद्यार्थियों को विद्यालय में धातु के रूप व वाक्य लिखने के लिए परीक्षाओं में दिए जाते है । विद्यार्थियों की सहायता के लिए मैंने पठ्धातु के रूप सभी
पांचों प्रकार अर्थात् पांचों लकारों में धातु रूप लिखे है । साथ ही इस धातु से किस प्रकार से वाक्य बनाए जाते है उसको ध्यान में रखते हुए प्रत्येक लकार के वाक्य बनाए है ।

1.लट् लाकर वर्तमान काल

पुरुष एकवचन द्विवचनबहुवचन
प्रथम पठतिपठत:पठन्ति
मध्यमपठसिपठथःपठथ
उत्तमपठामिपठाव:पठामः
  1. बालक पुस्तक पढता है |
    बालकः पुस्तकम् पठति |
  2. दो बालक पुस्तक पढतें हैं ।
    बालकौ पुस्तकम् पठतः |
  3. सभी बालक पुस्तक पढ़ते हैं ।
    बालका: ( सर्वे बालकाः ) पुस्तकानि
    पठन्ति |
  4. तुम पुस्तक पढ़ते हो |
    त्वं पुस्तकम् पठसि |
  5. तुम दोनों पुस्तक पढ़ते हो ।
    युवां पुस्तकम् पठथः |
  6. तुम सब पुस्तक पढ़ते हो
    यूयं पुस्तकम् पठथ |
  7. मैं पुस्तक पढता
    अहम् पुस्तकं पठामि |
  8. मैं पुस्तक पढता हूँ ।
    आवां पुस्तकं पठावः |
  9. मैं पुस्तक पढता हूँ ।
    वयं पुस्तकं पठामः |

2.लङ् लकार भूतकाल

पुरुष एकवचनद्विवचनबहुवचन
प्रथम पुरुष अपठत्अपठताम्अपठन्
मध्यम पुरुष अपठःअपठतम्अपठत
उत्तम पुरुष अपठम्अपठावअपठाम
  1. छात्र पुस्तक पढता था |
    छात्र: पुस्तकम् अपठत् |
  2. दो छात्र पुस्तक पढतें थे ।
    द्वौ छात्रौ पुस्तकम् अपठताम् |
  3. सभी छात्र पुस्तक पढ़ते थे ।
    छात्रा: (सर्वे छात्रा : ) पुस्तकम् अपठन् |
  4. तुम पुस्तक पढ़ते थे ।
    त्वं पुस्तकम् अपठः |
  5. तुम दोनों पुस्तक पढ़ते थे ।
    युवां पुस्तकम् अपठतम् |
  6. तुम सब पुस्तक पढ़ते थे
    यूयं पुस्तकम् अपठत |
  7. मैंने पुस्तक पढ़ी |
    अहम् पुस्तकं अपठम् |
  8. हम दोनों ने पुस्तक पढ़ी |
    आवां पुस्तकं अपठाव |
  9. हम सब ने पुस्तक पढ़ी |
    वयं पुस्तकं अपठाम |

3.लृट् लकार भविष्यत काल

पुरुष एकवचनद्विवचनबहुवचन
प्रथम पुरुषपठिष्यतिपठिष्यतःपठिष्यन्ति
मध्यम पुरुषपठिष्यसि पठिष्यथःपठिष्यथ
उत्तम पुरुषपठिष्यामिपठिष्यावःपठिष्यामः
  1. वह समाचार पत्र पढ़ेगा ।
    सः समाचारपत्रं पठिष्यति ।
  2. वह दोनों समाचार पत्र पढ़ेंगे |
    तौ समाचारपत्रं पठिष्यतः |
  3. वे सब समाचार पत्र पढ़ेंगे |
    ते समाचारपत्रं पठिष्यन्ति |
  4. तुम समाचार पत्र पढोगे ।
    त्वं समाचारपत्रं पठिष्यसि ।
  5. तुम दोनों समाचार पत्र पढोगे ।
    युवां समाचारपत्रं पठिष्यथः |
  6. तुम सब समाचार पत्र पढोगे|
    यूयं समाचारपत्रं पठिष्यथ |
  7. मैं समाचार पत्र पढूँगा |
    अहं समाचारपत्रं पठिष्यामि |
  8. हम दोनों समाचार पत्र पढ़ेंगे |
    आवां समाचारपत्रं पठिष्यावः ।
  9. वह सब समाचार पत्र पढ़ेंगे |
    वयं समाचारपत्रं पठिष्यामः |

4.लोट् लकार आज्ञार्थ काल

पुरुषएकवचनद्विवचनबहुवचन
प्रथम पुरुष पठतुपठताम्पठन्तु
मध्यम पुरुष पठ् पठतम्पठत
उत्तम पुरुष पठानिपठावपठाम
  1. वह समाचार पत्र पढ़े ।
    सः समाचारपत्रं पठतु ।
  2. वह दोनों समाचार पत्र पढ़े ।
    तौ समाचारपत्रं पठताम्|
  3. वे सब समाचार पत्र पढें ।
    ते समाचारपत्रं पठन्तु |
  4. तुम समाचार पत्र पढो|
    त्वं समाचारपत्रं पठ |
  5. तुम दोनों समाचार पत्र पढो |
    युवां समाचारपत्रं पठतम् |
  6. तुम सब समाचार पत्र पढो ।
    यूयं समाचारपत्रं पठत |
  7. मैं समाचार पत्र पढू |
    अहं समाचारपत्रं पठानि |
  8. हम दोनों समाचार पत्र पढ़े |
    आवां समाचारपत्रं पठाव |
  9. हम सब समाचार पत्र पढ़े ।
    वयं समाचारपत्रं पठाम |

5.विधिलिंग लकार चाहिये अर्थ

पुरुषएकवचनद्विवचनबहुवचन
प्रथम पुरुष पठेत् पठेताम्पठेयुः
मध्यम पुरुष पठे:पठेतम्पठेत
उत्तम पुरुष पठेयम्पठेवपठेम
  1. उसे पढना चाहिये ।
    सः पठेत् |
  2. उन दोनों को पढना चाहिये ।
    तौ पठेताम् |
  3. उन सब को पढना चाहिये ।
    ते पठेयुः |
  4. तुम्हे पढना चाहिये |
    त्वं पठेः ।
  5. तुम दोनों को पढना चाहिये ।
    युवां पठेतम् |
  6. तुम सब को पढना चाहिये ।
    यूयं पठेत |
  7. मुझे पढना चाहिये |
    अहम् पठेयम् |
  8. हम दोनों को पढना चाहिये ।
    आवां पठेव |
  9. हम सब को पढना चाहिये ।
    वयं पठेम |

Leave a Comment