Prashn Nirman in Sanskrit संस्कृत में प्रश्न निर्माण class 9 & 10

संस्कृत में प्रश्न निर्माण class 9 & 10

संस्कृत में प्रश्न निर्माण करना बहुत ही सरल है | सिर्फ हमे शब्द रूप का ज्ञान होना आवश्यक है, जिसमें अकारान्त पुल्लिंग, आकारान्त स्त्रीलिंग, ईकारांत स्त्रीलिंग, और नपुंसकलिंग शब्द रूप शामिल है ।

किसी एक वाक्य को प्रश्नवाचक वाक्य बनाना ही प्रश्न निर्माण कहलाता है । जिस वाक्य को प्रश्नवाचक वाक्य बनाया जाता है तो वाक्य के अन्त में प्रश्नवाचक (?) चिह्न का प्रयोग करना चाहिए |

संस्कृत में प्रश्न निर्माण के लिए तीन विषयों का
ज्ञान अत्यावश्यक है –

1.Question making inSanskrit प्रश्नवाचक अव्यय पद

अव्यय शब्द उन शब्दों को कहा जाता है जिन शब्दों के रूप कभी नहीं बदलते हैं । अव्ययों में कुछ अव्यय ऐसे होते हैं जिनके द्वारा सामान्य वाक्यों को प्रश्नवाचक वाक्यों में बदला जाता है | प्रश्नवाचक अव्यय पदों का प्रयोग एक निश्चित स्थान पर किया जाता है |

प्रश्नवाचक अव्यय पद निम्नलिखित हैं-

  • किम्= क्या
  • कुत्र = कहाँ
  • कदा = कब
  • कति=कितने
  • कथम् =कैसे
  • कुत: = कहाँ से

प्रश्न निर्माण किम् शब्द के शब्द रूप से होता है, अतः हमें किम् शब्द के शब्द रूप याद होना बहुत ही आवश्यक है । हमारे अगले पेज में किम् शब्द के शब्द रूप देखेंगे |

1. बालिका विद्यालयं गच्छति ?

उत्तर – का विद्यालयं गच्छति |

2. बालकाय दुग्धं रोचते ?

उत्तर—कस्मै दुग्धं रोचते ।

3. भरत: दशरथस्य पुत्रः आसीत् ?

उत्तर -भरतः कस्य पुत्रः आसीत्

4. वृक्षात् पत्रम् पतति ?

उत्तर – कस्मात् पत्रम् पतति |

5. फलानि उपवने सन्ति ?

उत्तर – कानि उपवने सन्ति ।

1.किम् = क्या

“किम्” अव्यय का प्रयोग उन शब्दों के साथ किया जाता है, जिनका उपयोग हम खाने-पीने, पहनने, लाने, किसी काम को करने इत्यादि शब्दों के साथ किया जाता है ।

वाक्यानि—
(क) बालकः फलं खादति ।

बालकः किं खादति ?

(ख) लता लेखं लिखति |

लता किं लिखति ?

(ग) बालिका दुग्धं पिबति |

बालिका किं पिबति ?

(घ) महिला रोटिकां खादति ।

महिला किं खादति ?

2.कुत्र = कहाँ

यदि स्थान वाचक शब्द हो तो वहाँ पर “कुत्र” अव्यय पद का प्रयोग जाता है |

(क) छात्र: विद्यालयं गच्छति ।

छात्रः कुत्र गच्छति ?

(ख) सिंह: वने निवसति |

सिंहः कुत्र निवसति ?

(ग) वानराः वृक्षे कुर्दन्ति ।

वानराः कुत्र कुर्दन्ति ?

3.कदा = कब

समय वाचक शब्द हो तो “कदा ” अव्यय पद का प्रयोग किया जाता है।

(क) रमेशः प्रातःकाले भ्रमति ।

रमेशः कदा भ्रमति ?

(ख) गीता सप्तवादने विद्यालयं गच्छति |

गीता कदा विद्यालयं गच्छति ?

ग) कविता रात्रौ भोजनं करोति

कविता कदा भोजनं करोति ?

4.कति = कितने

“कति” अव्यय पद का प्रयोग “संख्यावाचक” शब्दों के साथ किया जाता है ।

(क) कक्षायां त्रिंशत् छात्राः सन्ति |

कक्षायां कति छात्रा: सन्ति ?

(ख) गृहे पंच जनाः सन्ति

गृहे कति जनाः सन्ति ?

(ग) वने दश सिंहाः सन्ति ।

वने कति सिंहाः सन्ति ?

Leave a Comment