सबसे उजला अध्याय -21 sabse ujala chapter- 21

फुलवारी कक्षा-4 की हिंदी पाठ्य पुस्तक

यह अध्याय प्राइमरी पाठशाला कक्षा 4 की हिंदी पाठय पुस्तक फुलवारी से लिया गया है इस पाठ पढ़ेंगे(सबसे उजला)

सम्राट अकबर का दरबार लगा हुआ था। दरबार के आवश्यक कार्यों को पूर्ण करने के बाद अकबर ने दरबारियों से प्रश्न किया, “क्या आप बता सकते हैं कि दुनिया में सबसे उजला क्या है ?”
दरबारी थोड़ी देर विचार करते रहे, फिर उनमें से एक ने कहा, “जहाँपनाह! दुनिया में सबसे उजली वस्तु रूई है।” एक अन्य दरबारी बोला, “दुनिया में सबसे उजली वस्तु दूध है।”
फिर तो रुई और दूध दोनों में अधिक उजली वस्तु कौन सी है, इस पर जोरदार बहस होने लगी। यह देखकर बीरबल को हँसी आ गई। अकबर ने बीरबल को हँसते देखकर कहा, “बीरबल, तुम्हें हँसी क्यों आ रही है ? क्या तुम इस प्रश्न के बारे में कुछ कहना चाहते हो?
बीरबल ने कहा, “महाराज! मैं तो मानता हूँ कि दुनिया में प्रकाश सबसे अधिक उजला है।” अकबर ने कहा, “वह कैसे ? क्या तुम अपनी बात को सिद्ध कर सकते हो ?” बीरबल ने कहा, “अवश्य, जब समय आएगा तब मैं इस बात को सिद्ध कर दूँगा।”
कुछ दिनों के बाद बीरबल बादशाह से मिलने महल में गए। बादशाह सिर पकड़कर बैठे हुए थे। बीरबल ने पूछा, “क्या हुआ जहाँपनाह?” अकबर ने कहा, “मेरे सिर में बहुत दर्द है। इसलिए मुझे कुछ भी अच्छा नहीं लग रहा है।” बीरबल ने कहा, “कई बार अधिक प्रकाश में रहने के कारण ऐसा होता है। आप थोड़ी देर के लिए सिर पर कपड़ा बाँध कर सो जाइए। मैं इस कमरे के दरवाजे और खिड़कियाँ बंद कर देता हूँ।”

अकबर सिर पर कपड़ा बाँध कर सो गए। अकबर के सो जाने पर बीरबल ने कमरे में दरवाजे के पास रूई का ढेर लगा दिया। रुई के ढेर के पास ही एक पतीली में दूध भरकर रख दिया। खिड़की-दरवाजे बंद करने के बाद बीरबल कमरे के बाहर जाकर बैठ गए।
कमरे के सभी दरवाजे-खिड़कियाँ बंद होने के कारण कमरे में अँधेरा हो गया इसलिए। अकबर को अच्छी नींद आ गई। जब वह जागे तो सिरदर्द हल्का हो गया था। वे कमरे से बाहर निकलने के लिए खड़े हुए। अँधेरे में दरवाजा खोजते-खोजते उनका पैर रूई के ढेर पर पड़ गया। वे वहाँ से कुछ हटकर जाने लगे तो दूध की पतीली से टकरा गए। जैसे-तैसे उन्होंने दरवाजा खोला। दरवाजे के पास रूई का ढेर और दूध की पतीली देखकर अकबर चौंक गए।
बाहर आकर अकबर ने बीरबल से पूछा, “यह सब क्या तमाशा है बीरबल ? कमरे में रुई और दूध की पतीली क्यों रखवाई है ?”

बीरबल ने कहा, “जहाँपनाह! दरवाजा और खिड़कियाँ बंद करने से कमरे में अँधेरा हो गया था। आप अँधेरे में दरवाजा ठीक से देख सकें, इसलिए मैंने दो उजली वस्तुएँ आपके कमरे में रखवा दी थीं।”
अकबर ने कहा, “यह क्या बात हुई भला ? कोई वस्तु चाहे जितनी भी उजली हो पर जब तक उस पर प्रकाश नहीं पड़ता, तब तक उसे कैसे देखा जा सकता है ?”
बीरबल ने कहा, “जहाँपनाह! एक महीने पहले आपके प्रश्न के उत्तर में मैंने भी आपसे यही कहा था। तब आप मेरी बात नहीं मान रहे थे। अब आपको विश्वास हो गया न कि दुनिया में सबसे अधिक उजला प्रकाश ही है।”

अभ्यास

शब्दार्थ

शब्दअर्थ
दरबारराजसभा
जहाँपनाहबादशाह के लिए संबोधन
विश्वास भरोसा
दरबारीसभा का सदस्य

1-बोध प्रश्न उत्तर लिखिए-

(क) अकबर ने दरबारियों से क्या प्रश्न पूछा ?

उत्तर -अकबर ने दरबारियों से यह पूछा है कि दुनिया में सबसे उजली वस्तु क्या है|


(ख) उजली वस्तु के बारे में दरबारियों ने अकबर को क्या-क्या उत्तर दिए ?

उत्तर -थोड़ी देर विचार करने के बाद उनमें से एक दरबारी बोला जहांपनाह दुनिया में सबसे उजली वस्तु रूई है और दूसरा दरबारी बोल दुनिया मैं सबसे उजला दूध है |

(ग) दरबारियों के उत्तर सुनकर बीरबल को हँसी क्यों आ गई ?

उत्तर -दरबारी के मूर्खतापूर्ण उत्तर देने के कारण बीरबल को हंसी आ गई और कहा कि दुनिया में सबसे उजला प्रकाश है|


(घ) अकबर के सिरदर्द को कम करने के लिए बीरबल ने क्या उपाय सुझाया
?

उत्तर -बीरबल ने कहा कई बार अधिक प्रकाश में रहने के कारण ऐसा होता है आप थोड़ी देर के लिए सर पर कपड़ा बांधकर सो जाइए|

(ङ) बीरबल ने अपनी बात कैसे सिद्ध की ?

उत्तर – बीरबल ने अपनी बात को सिद्ध करने के लिए जब राजा कमरे में सो गया तो दरवाजे पर रुई और दूध रखवा दी और जब राजा की नींद खुली तो अंधेरा होने के कारण वह रुई और दूध में पैर को रख दिया अकबर मानना पड़ा की सबसे उजली वस्तु प्रकाश है|

2-किसने किसे कहा-

  • दुनिया की सबसे उजली वस्तु दूध है दरबारी ने अकबर से कहा! |
  • महाराज ! मैं तो मानता हूं कि दुनिया में प्रकाश सबसे अधिक उजाला है बीरबल ने अकबर से कहा |
  • कोई वस्तु चाहे जितनी उजली हो पर जब तक उसे पर प्रकाश नहीं पड़ता तब तक उसे कैसे देखा जा सकता है अकबर ने बीरबल से कहा |
  • कमरे में अंधेरा हो गया था आप अंधेरे में दरवाजा ठीक से देख सके इसलिए मैंने दो उजली वस्तुओं आपके कमरे में रखवा दी थी बीरबल ने अकबर से कहा |

3-सोच विचार बताइए-

(क) अगर दो-तीन दिनों तक सूरज ना दिखाई दे तो क्या-क्या कठिनाई होगी?

उत्तर-चारों ओर अंधेरा ही अंधेरा छा जाएगा और कुछ भी नहीं दिखाई देगा जीवन अस्त व्यस्त हो जाएगा|

(ख)-अंधेरा होने पर लोग जाने के लिए क्या-क्या करते हैं?

उत्तर-अंधेरा होने पर लोग लाइट, मोमबत्ती बिजली बल्ब का प्रयोग करते हैं|

(ग) इस पाठ का शीर्षक है सबसे उजाला आप पाठ को क्या सीख देंगे?

उत्तर-इस पाठ का अन्य शीर्षक प्रकाश हो सकता है|

4-भाषा के रंग-

(क) नीचे लिखे शब्दों को एक ही वाक्य में प्रयोग करके लिखिए?

जैसे अँधेरा ,दूध – अंधेरा होने पर मैंने दूध पिया|

रुई, दरवाजादरवाजे के पीछे रुई से भरा हुआ थैला टंगा हुआ है
पतीली, खोजते दूध खोजते हुए बिल्ली की नजर पतीली पर पड़ी
दुनिया, काम पूरी दुनिया के लोग किसी नकिसी काम में व्यस्त हैं
(ख) कोष्टक में दिए गए शब्दों के विलोम शब्द से हुआ कि पूरा कीजिए-

(विश्वास,भारी ,पैर , प्रकाश)

रात होते ही चारों ओर अंधेरा फैल जाता है|

सर दर्द होने पर बीरबल ने सलाह दी की सिर पर कपड़ा बांधकर थोड़ी देर सो जाइए|

थोड़ी देर सोने के बाद अकबर का सिरदर्द.. हल्का..हो | गया|

बीरबल की बात पर अंत में बादशाह को.. विश्वास ..हो गया|

5-अब करने की बारी-

बीरबल की चतुराई के किस्से बहुत प्रसिद्ध है|

(क) आप भी एक ऐसा ही किस्सा धुंधिया इसमें बीरबल अपने उत्तर से सबको आश्चर्य में डाल देते हैं|

विद्यार्थी स्वयं करें?

(ख) बीरबल की तरह बहुत से अन्य व्यक्तियों की हाजिर जवाबी के किस्से प्रसिद्ध है|

विद्यार्थी स्वयं करें?

(ग) इस प्रसंग पर अपनी कक्षा में अभिनय कीजिए-

विद्यार्थी स्वयं करें?

6-मेरे दो प्रश्न पाठ के आधार पर दो सवाल बनाइए-

1-बीरबल ने किस प्रश्न का उत्तर देने के लिए दरबारियों से कहा|

2-जब अकबर का सिर दर्द हो रहा था तब बीरबल ने क्या सुझाव दिया|

7-इस पाठ से –

(क) मैंने सीखा …………छात्र स्वयं करें?

(ख) मैं करूंगी करूंगा……… छात्र स्वयं करें?

Leave a Comment