Sev Dhatu Roop सेव् (सेवा करना) धातु रूप

सेव् (सेवा करना) धातु रूप

‘सेव्’ धातु का अर्थ होता है – सेवा करना । यह धातु भवादिगण आत्मनेपदी धातु है । आज हम इस लेख में ‘सेव्’ धातु के धातु-रूप के विषय में अध्ययन करेंगे | Sev Dhatu Roop पांचों लकारों में प्रस्तुत है | आत्मनेपदी धातु के रूप परस्मैपदी धातु रूप से काफी भिन्न है अत: इन्हें याद करने के लिए विशेष ध्यान रखे |


लट् लकार वर्तमानकाल Present Tense

पुरुषएकवचनम्द्विवचनम्बहुवचनम्
प्रथमसेवतेसेवेतेसेवन्ते
मध्यमसेवसेसेवेथेसेवध्वे
उत्तमसेवेसेवावहेसेवामहे

लङ् लकार भूतकाल Past Tense

पुरुषएकवचनम्द्विवचनम्बहुवचनम्
प्रथमअसेवतअसेवताम्असेवन्त
मध्यमअसेवथा:असेवेथाम्असेवध्वम्
उत्तमअसेवेअसेवावहिअसेवामहि

लृट् लकार भविष्यत् काल Future Tense

पुरुषएकवचनम्द्विवचनम्बहुवचनम्
प्रथमसेविष्यतेसेविष्येतेसेविष्यन्ते
मध्यमसेविष्यसेसेविष्येथेसेविष्यध्वे
उत्तमसेविष्येसेविष्यावहेसेविष्यामहे

लोट् लकार आज्ञार्थ काल Imperative Tense

पुरुषएकवचनम्द्विवचनम्बहुवचनम्
प्रथमसेवताम्सेवेताम्सेवन्ताम्
मध्यमसेवस्वसेवेथाम्सेवध्वम्
उत्तमसेवैसेवावहैसेवामहै

विधिलिङ् लकार चाहिए अर्थ में Potential Mood

पुरुषएकवचनम्द्विवचनम्बहुवचनम्
प्रथमसेवेत्सेवेयाताम्सेवेरन्
मध्यमसेवेथा:सेवेयाथाम्सेवेध्वम्
उत्तमसेवेयसेवेवहिसेवेमहि

ल्यप् प्रत्यय

राजन् (राजा) शब्द रूप

मुझे पूर्ण विश्वास है कि आपको सेव् धातु (सेवा करना) के धातु रूप अच्छे से समझ में आ गए होंगे । इस धातु से संबंधित कुछ प्रश्न नीचे दिए गए है ।


प्रश्नोत्तर Sev Dhatu Roop

1. ‘सेव्’ धातु का मतलब क्या होता है ?

उत्तर:- ‘सेव्’ धातु का मतलब होता है ‘सेवा करना’
|
2. ‘सेवन्ते’ में कौन सा वचन है ?

उत्तर:- ‘सेवन्ते’ में लट् लकार प्रथम पुरुष का बहुवचन है ।

3. ‘सेवे’ में कौन सा लकार है ?

उत्तर:- ‘सेवै’ में ‘लोट् लकार’ है ।

4. ‘सेव्’ धातु के लङ् लकार के प्रथम पुरुष का बहुवचन क्या होगा ?

उत्तर:- असेवन्त |

5. ‘सेवेथा:’ में कौन सा लकार है ?

उत्तर:- ‘सेवेथा:’ में विधिलिंग लकार मध्यम पुरुष एकवचन है।

6. ‘सेव्’ धातु लोट् लकार उत्तम पुरुष एकवचन का रूप क्या होगा ?

उत्तर:- ‘सेव्’ धातु लोट् लकार उत्तम पुरुष एकवचन में ‘सेवै’ होगा ।

7. ‘सेविष्यध्वे ‘ में कौन सा लकार है ?

उत्तर:- ‘सेविष्यध्वे’ में लृट् लकार मध्यम पुरुष बहुवचन है ।

8. ‘सेवेरन्’ में कौन सा पुरुष है ?

उत्तर:- ‘सेवेरन्’ में ‘विधिलिङ् लकार प्रथम पुरुष बहुवचन’ है ।
9. ‘सेवेयाथाम्’ में कौन सा वचन है ?

उत्तर:- ‘सेवेयाथाम्’ में विधिलिङ् लकार मध्यम पुरुष का द्विवचन है ।


10. ‘सेव्’ धातु के लङ् लकार के मध्यम पुरुष का एकवचन क्या होगा ?

उत्तर असेवथा:

Leave a Comment