टेसू राजा अध्याय -17 tesu Raja chapter -17

फुलवारी कक्षा-4 की हिंदी पाठ्य पुस्तक

यह अध्याय प्राइमरी पाठशाला कक्षा 4 की हिंदी पाठय पुस्तक फुलवारी से लिया गया है इस पाठ पढ़ेंगे टेसू राजा (कविता)-

टेसू राजा अड़े खड़े माँग रहे हैं दही बड़े ।
बड़े कहाँ से लाऊँ मैं,


पहले खेत खुदाऊँ मैं,
उसमें उड़द उगाऊँ मैं,
फसल काट घर लाऊँ मैं ।


छान फटक रखवाऊँ मैं

,फिर पिट्ठी पिसवाऊँ मैं,
टिकिए गोल बनाऊँ मैं,
बेलन से बेलवाऊँ मैं ।


चूल्हा फूँक जलाऊँ मैं,
तलवा कर सिकवाऊँ मैं,

फिर पानी में डाल उन्हें,
मैं लूँ खूब उबाल उन्हें ।


फूल जाएँ वह सब के सब,
उन्हें दही में डालूँ तब,

मिर्च-नमक छिड़काऊँ मैं,
चाँदी वर्क लगाऊँ मैं


चम्मच एक मँगाऊँ मैं,

तब वह उन्हें खिलाऊँ मैं,
टेसू राजा अड़े-खड़े,
माँग रहे हैं दही बड़े ।

रामधारी सिंह दिनकर

बिहार प्रांत के बेगूसराय जिले में जन्मे राष्ट्रकवि रामधारी सिंह ‘दिनकर’ हिंदी के प्रमुख लेखक, कवि एवं निबंधकार हैं। ‘कुरुक्षेत्र’, ‘रश्मिरथी’, ‘उर्वशी’, ‘हुँकार’, ‘संस्कृति के चार अध्याय’ आपकी प्रमुख रचनाएँ हैं।

अभ्यास

शब्दार्थ

शब्दअर्थ
टेसू राजा बेटे का नाम टेसू है जिसे मां ने प्यार से टेसू राजा कहा है|
खडे खड़ेकिसी चीज के लिए जिद करना जीत पूरी होने तक खड़े रहना |
पिट्ठी पिसवानाभीगी हुई उड़ा दिया मूंग की दाल को पिसवाना |

1बोध प्रश्न उत्तर लिखिए-

(क) टेसू राजा किस बात के लिए अड़े खड़े हैं ?

उत्तर-दही बड़े की जीत में टेसू राजा खड़े-खड़े हैं|


(ख) माँ की कठिनाई क्या है ?

उत्तर-मां के सामने यह कठिनाइया है की दही बड़ा बनाने के लिए कई प्रकार की सामग्रियों को कैसे इकट्ठा करेगी और कैसे लायेंगी|


(ग) टेसू की माँ के पास उड़द होते तो उन्हें क्या-क्या नहीं करना पड़ता ?

उत्तर-टेसू मां के पास अगर उडद होते तो उसे खेत खुदवाने और उड़द को उगाने का कार्य नहीं करना पड़ता |


(घ) कविता को पढ़कर दही बड़ा बनाने की प्रक्रिया/चरणों को क्रमशः लिखिए। जैसे-

उत्तर-दही बड़ा बनाने की प्रक्रिया निम्न है.

  • उड़द को भिगोना|
  • उसकी पिट्ठी पिसवाना |
    गोल टिकिया बनाना |
  • टिकिया को चपटा करके बीच में उँगलियों
    से छेद बनाना |
    •तेल में तलना |
    •दही में डुबाना |

2-सोच विचार बताइए-

(क) आपने अपनी माँ से कब और किस बात के लिए जिद की ?

उत्तर-विद्यार्थी स्वयं करें?


(ख) माँ ने वह जिद कैसे पूरी की ?

उत्तर-विद्यार्थी स्वयं करें?


(ग) क्या हमें जिद करनी चाहिए, यदि हाँ तो क्यों ?

उत्तर-विद्यार्थी स्वयं करें?


(घ) आपने अपने घर में किसी दुकान पर या किसी अन्य स्थान पर इन कामों को होते
देखा होगा। बताइए कि कैसे होते हैं ये काम-

आलू की टिकिया बनाना|

बेसन से पकौड़े बनाना|

मिट्टी से घड़ा बनाना |

आटे से रोटी बनाना

विद्यार्थी स्वयं लिखें

3-भाषा के रंग-

(क) कविता में तुकांत शब्द खूब आए हैं जैसे अड़े-खड़े-बड़े लाऊँ, खुदाऊँ उगाऊँ इन्हें ढूंढ कर लिखिए-

रखवाऊँ, पिसवाऊँ ,बनाऊँ ,बेलवाऊँ, छिडकाऊँ|

(ख) पाठ में आए हुए (ँ) अनुनासिक शब्दों को छांटकर लिखिए ?

जैसे-लाऊँ, उगाऊँ, जलाऊँ ,खुदाऊँ ,खिलाऊँ, पिसवाऊँ, छिडकाऊँ ,डालूँ ,बनाऊँ|

4-आपकी कलम से-

(ख) दही बड़ा की ही तरह अगर रोटी बनानी हो तो कविता कैसे बनेगी खाली स्थान में सही शब्द भरकर कविता को पूरा कीजिए-

पहले खेत खुदाऊँ मैं। उसमें गेहूँ उगाऊँ मैं।
फसल काट घर लाऊँ मैं।
छान फटक रखवाऊँ मैं।
फिर आटा पिसाऊँ मैं।
टिकिए गोल बनाऊँ मैं।
बेलन से बेलवाऊँ मैं।
तवा पर सिकवाऊँ मैं।
तब वह उन्हें खिलवाऊँ मैं।

(ख) आपके घर में खाना कौन-कौन बनाते हैं आप इस काम में उनकी क्या मदद कर सकते हैं नीचे बनी तालिका में लिखिए-

खाना कौन बनाता हैमैं क्या मदद करता हूंमैं और क्या-क्या मदद कर सकता हूं
विद्यार्थी स्वयं लिखे|

(ग) आपकी रसोई में-

  • क्या-क्या कड़ाही में तलकर सेंका जाता है?- पूड़ी, गुलाबजामुन, बड़ा, पकौड़ी गुझिया
  • क्या-क्या पानी में डालकर उबाला जाता है ?-आलू, चावल
  • किन चीजों के बनाने में दही का प्रयोग होता है ?-कढ़ी, भटूरे, दही-बड़ा
  • कौन-कौन से बरतन है ?– भगौना, कढ़ाई, थाली,गिलास, कटोरी, चम्मच, कुकर
  • किन-किन बरतनों का प्रयोग होगा ?-सब्जी बनाने में – कढ़ाई, चम्मच |
  • दाल बनाने में- कुकर भगोना|
  • चावल बनाने में-कुकर भगोना •

5-अब करने की बारी-

(क) देखिए समझिए और बताइए-

साबूदाना को तीन से चार घंटे के लिए पानी में भिगोएं। मूंगफली को सूखा भून लें। छिलका हटाकर पाउडर बना लें। आलू को उबालकर छिलका छौल लें और मैश कर लें। साबूदाना को पानी से निकालकर पानी निचोड़ लें। एक बाउल में साबूदाना, आलू, मूंगफली का पाउडर, धनिया पाउडर, नमक और नीबू का रस डालकर मिलाएं। कड़ाही में तेल गर्म करें। तैयार मिश्रण से छोटी- छोटी लोई बनाएं। हथेलियों में तेल लगाएं, लोई को बीच में रखकर हल्का- सा दबाएं। तैयार वड़ा को सुनहरा होने तक तलें। व्रत वाली चटनी के साथ सर्व करें।

(ख) इंटरव्यू-अपने टेलीविजन पर अखबार में अथवा रेडियो पर किसी का इंटरव्यू साक्षात्कार देखा पड़ा अथवा सुना होगा पता है आप भी ले सकते हो इंटरव्यू अपने घर में खाना पकाने वाले से यह सवाल पूछिए और उत्तर लिखिए-

खाना पकाना कब सीखे|

किससे सीखा?

क्या-क्या बना लेते हैं|

बनाते समय क्या-क्या सावधानियां रखते हैं|

क्या-क्या बनाने में ज्यादा समय लगता है|

क्या-क्या बनाना आसान होता है|

राजा लोग क्या खाना ज्यादा पसंद करते हैं|

खाना बनाते खिलाते समय कब आपको परेशानियां या दुख होता है|

उपरोक्त प्रश्न का उत्तर विद्यार्थी स्वयं दें?

6-मेरे दो प्रश्न कविता के आधार पर दो सवाल बनाइए-

1-टेसू राजा किस चीज के लिए जिद किए हुए हैं?

2-टेसू की मां के सामने कौन सी कठिनाई है?

7-इस कविता से-

(क) मैंने सीखा-

(ख) मैं करूंगी/करूंगा

Leave a Comment