Thak Pratyay in Sanskrit ठक् प्रत्यय परिभाषा व उदाहरण

ठक् प्रत्यय


ठक् प्रत्यय तद्धित् प्रत्यय कहलाता है क्योंकि इसका प्रयोग शब्द के साथ किया जाता है | इस प्रत्यय का प्रयोग भाववाचक संज्ञा और विशेषण के रूप में होता है | पढ़ने के लिए इस लेख को पूरा पढ़े ।


ठक् प्रत्यय की परिभाषा

ठक् प्रत्यय का प्रयोग होते समय “ठक्” को “इक” हो जाता है क्योंकि इस प्रत्यय का प्रयोग होने पर शब्द के प्रारंभिक स्वर को वृद्धि आदेश होता है अर्थात् अ को आ, इ/ई/ए को ऐ, उ/ ऊ/ओ को औ तथा ॠ को आर् आदेश हो जाता है |

इस प्रत्यय के रूप तीनो लिंगो में चलते है :- पुल्लिंग बालक की तरह, स्त्रीलिंग नदी की तरह, नपुंसकलिंग


भूत + ठक् = भौतिकः (पुल्लिंग) भौतिकी (स्त्रीलिंग) भौतिकम् (नपुंसकलिंग)

रेखांकितपदानां प्रकृतिप्रत्ययौ: संयोज्य
विभाज्य वा उचितम् उत्तरं लिखत

1. शरीरं भौतिकम् एव वर्तते ।
(अ) भौत + इक
(ब) भौत + ठक्
(स) भूत + इक

(द) भूत + ठक्

2. अस्ति + ठक् एव ईश्वरं मन्यते ।
(अ) अस्तिक
(ब) आस्तिक :
(स) आस्तिकम्
(द) अस्तिकी

|
प्रश्न: 03. पर्यावरणरक्षणम् अस्माकं नीति + ठक् कर्तव्यम् |
(अ) नीतिकम्
(ब) नितिकम्
(स) नैतिकम्
(द) नेतिकम्


प्रश्नः 04. ऐतिहासिकानां स्थलानां गन्तुम् इच्छामि
(अ) ऐतिहास + ठक्
(ब) इतिहास + ठक्
(स) ऐतिहास + इक
(द) इतिहास + इक

प्रश्न : 05. वर्तमानयुग आर्थिक: युग: अस्ति ||
(अ) आर्थ + इक
(ब) अर्थ + इक
(स) अर्थ + ठक्
(द) आर्थ + ठक्


प्रश्न: 06. मम साप्ताहिक: अवकाश: श्वः भविष्यति
(अ) सप्ताह + ठक्
(ब) साप्ताह + इक
(स) सप्ताह + इक
(द) साप्ताह + ठक्

उत्तराणि

1.द, 02. ब, 03. स, 04. ब 05. स, 06. अ |

ठक् प्रत्यय के उदाहरण
शब्द। प्रत्यय

अस्ति+ ठक् = आस्तिक

भूत + ठक्=भौतिक

वर्ष+ ठक्=वार्षिक

नगर + ठक्=नागरिक

समाज + ठक्= सामाजिक

इतिहास + ठक्=ऐतिहासिक

उद्योग + ठक्=औद्योगिक

दिन+ ठक् = दैनिक

धर्म+ ठक्=धार्मिक

सप्ताह + ठक्= साप्ताहिक

दर्शन + ठक् = दार्शनिक

अर्थ + ठक् = आर्थिक

संस्कृत + ठक्=सांस्कृतिक

मास + ठक् = मासिक

लोक + ठक् = लौकिक

पुराण + ठक् = पौराणिक

व्यवहार + ठक् =व्यावहारिक

प्रमाण + ठक् = प्रामाणिक

प्रथम + ठक् = प्राथमिक

वेद + ठक् = वैदिक

सर्वभूमि + ठक्=सार्वभौमिक

सार्वभौमिक ,यहाँ पर“सर्व” और “भूमि” दो शब्द है इसलिए दोनो शब्दो के प्रथम स्वर को वृद्धि होगी अर्थात् सर्व को “सार्व” और भूमि को “भौमि”

Leave a Comment